HomeInternetCDMA और GSM मैं क्या अंतर है?

CDMA और GSM मैं क्या अंतर है?

फोन तो हम सभी इस्तेमाल करते हैं, लेकिन क्या आपको पता है कि आपका फोन GSM है या CDMA है? दोस्तों आज किस पोस्ट में मैं बात करने वाला हूं GSM और CDMA मैं क्या अंतर है.( What is the difference between CDMA and GSM)

CDMA (Code Division Multiple Access) और GSM (Global System for Mobile Communications) दो विभिन्न प्रकार के मोबाइल नेटवर्क संचार प्रणाली हैं. हकीकत तो ये है की mobile phone ने communication service की परिभाषा ही बदल दी है. ये telecommunication industry में सबसे जल्द बढ़ने वाली industry में से एक है. ये दोनों मोबाइल संचार स्थानों में संचार की संभवतः विश्वसनीय और सुविधाजनक तरीकों से संचार करने के लिए इस्तेमाल होते हैं।

आज के digital दुनिया में mobile phone के मनुष्य के लिए एक वरदान की तरह है. पर क्या आपको पता है की voice transmission मुख्यतः दो तरीके से होता है एक है GSM और दूसरा है CDMA technology. आज हम इस article में इन्ही दो technology GSM और CDMA क्या है और कैसे काम करता है के बारे में अच्छे तरीके से जानेंगे।

GSM क्या है (What is GSM in Hindi)

GSM वैश्विक मोबाइल संचार के लिए होता है। यह डिजिटल सैल्यूलर टेलीफोनी के लिए एक वैश्विक मानक है जो यूरोपीयों द्वारा बनाई गई थी और 1982 में ETSI द्वारा प्रकाशित मानक स्थिति दी गई थी। वह बाद में दुनिया भर के देशों में स्वीकार और इस्तमाल में लाया गया। GSM तकनीक 1991 में पहली बार फिनलैंड में शुरू की गई थी और आज, 213 देशों में 690 से अधिक मोबाइल नेटवर्क ने GSM सेवा प्रदान की है, जो वैश्विक मोबाइल कनेक्शन का 82.4% होता है। GSM World के अनुसार, वर्तमान में वैश्विक स्तर पर 2 अरब GSM मोबाइल उपयोगकर्ता हैं।

GSM (Global System for Mobile Communications) टेक्नोलॉजी में निम्न मुख्य विशेषताएं होती हैं:

  1. स्वतः स्थानांतरण: हर उपयोगकर्ता के लिए एक अलग चैनल होता है जो उनके स्थानांतरण संचार को स्पष्ट बनाता है। इसलिए स्थानांतरण स्थिति से होने वाली कमी या गंभीर परिणाम नहीं होते।
  2. स्पैक कोडिंग: संचार कनेक्शन को स्थानांतरण करने के लिए स्पैक कोडिंग तकनीक का उपयोग किया जाता है। यह संचार स्थानांतरण स्थिति में संचार कनेक्शन को विभाजित करता है।
  3. संचार स्थानांतरण तकनीक: स्थानांतरण स्पैक कोडिंग तकनीक का उपयोग होता है जो संचार स्थानांतरण स्थिति में संचार कनेक्शन को विभाजित करता है।
  4. डिजिटल सैल्यूलर स्थानांतरण: संचार स्थानांतरण होता है जो आवेदन स्पेस में संचार की गुणवत्ता को बेहतर बनाता है।
  5. मोबाइल वॉयस कल समर्थन: मोबाइल वॉयस कल समर्थन की सुविधा होती है जो स्थानांतरण संचार को सुलभ बनाता है

CDMA क्या है (What is CDMA in Hindi)

CDMA (Code Division Multiple Access) एक स्थानांतरण प्रणाली है जो मोबाइल संचार और स्थानांतरण संचार में उपयोग किया जाता है। CDMA नेटवर्क में, संचार स्थानांतरण को स्पैक कोडिंग तकनीक का उपयोग करता है जो संचार स्थानांतरण स्थिति में संचार कनेक्शन को विभाजित करता है। CDMA नेटवर्क में, हर उपयोगकर्ता के लिए एक अलग चैनल होता है जो उनके स्थानांतरण संचार को स्पष्ट बनाता है। CDMA नेटवर्क में, संचार कनेक्शन को स्थानांतरण करने के लिए डिजिटल कोडिंग तकनीक का उपयोग किया जाता है।

CDMA का full form है Code Division Multiple Access. ये एक digital cellular technology है जो की spread spectrum technique का इस्तमाल करता है. दुसरे technology कैसे GSM जो की TDMA का इस्तमाल करता है, उनके विपरीत CDMA में कोई भी एक specific frequency user को assign नहीं होती.

CDMA नेटवर्क में, संचार स्पैक में हर उपयोगकर्ता को एक अलग चैनल होता है जो उनके स्थानांतरण संचार को स्पष्ट बनाता है। CDMA में, संचार कनेक्शन स्थानांतरण के लिए डिजिटल कोडिंग तकनीक का उपयोग किया जाता है जो संचार स्थानांतरण स्थिति में संचार कनेक्शन को विभाजित करता है।

CDMA Technology के Features

अगर हम CDMA technolgy के features की बात करें तो इसके बहुत से विसेश्तायें है जिन्हें मैंने निचे mention कर दिया है ताकि आपको समझने में आसानी हो.

  • CDMA एक ऐसी प्रकार की multiplexing है जो enable करती है बहुत से signals को एक single transmission को occupy करने के लिए. ये मेह्जुदा bandwidth को संपूर्ण रूप से इस्तमाल करने की क्ष्य्मता बढाता है.
  • ये एक ऐसी प्रकार की technique है जिसे spread spectrum technique भी कहा जाता है जो की बहुत सारे users को एक साथ समान time और frequency में एक fixed space, band में occupy करने के लिए allow करती है.
  • Individual conversation को encode किया जाता है Pseudo- random digital sequence की मदद से.
  • ये technology का इस्तमाल Ultra-high-frequency(UHF) cellular telephone system में होता है, जहां band की रेंज 800MHz से 1.9GHz तक होता है.

मुझे पूर्ण आशा है की मैंने आप लोगों को GSM और CDMA क्या है (Difference between GSM and CDMA in Hindi) के बारे में पूरी जानकारी दी और में आशा करता हूँ आप लोगों को GSM और CDMA क्या है के बारे में समझ आ गया होगा।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments